‘कृष्ण की मक्खन गेंद-इस पत्थर को नहीं हिला पाए थे 7 हाथी

भारत देश आश्चर्यों से भरा है हर मोड़ पर यहाँ कोई न कोई अजूबा देखने को मिल जाता है और हर अजूबे के पीछे कोई दिलचस्प कहानी होती है  दक्षिण भारत के महाबलिपुरम नामक स्थान की भी गाथा कुछ ऐसी ही है यहाँ पर रखे हुए एक पत्थर के कारण यह हमेशा चर्चा में रहता है ये पत्थर करीब 1200 साल पुराना है


Bal-Krishna


हैरानी की बात है की यह पत्थर किस तरह से अपने स्थान पर टिका हुआ है
इस रखे हुए पत्थर ऊंचाई 20 फ़ीट और चौड़ाई 5 फ़ीट है

krishnas-butterball


वैज्ञानिक आज तक इस बात को नहीं जान पाए की ये पत्थर इंसान द्वारा खड़ा किया है या प्रकृति के द्वारा
1908 में यह पत्थर चर्चा में आया था जब तत्कालीन गवर्नर Arthur Lawley ने सोचा की ये पत्थर किसी दुर्घटना को अंजाम दे सकता है इसलिए इसको हटा दिया जाए आश्चर्य की बात है की इस पत्थर हो 7 हाथी भी मिल कर हटाने की बात तो दूर है खिसका भी नहीं पाए


Butter-rock-Krishna.jpg


असल में इस पत्थर के साथ एक कहानी जुडी हुई है असल में यह  पत्थर भगवन श्री कृष्ण का जमा हुआ मक्खन है जो उन्होंने अपनी बाल अवस्था में यहाँ पर गिरा दिया था इसलिए लोग इसे 'कृष्ण की मक्खन की गेंद' के नाम से पहचानते है



loading...
Share on Google Plus

About Madhuri Mehra

0 comments:

Post a Comment